CRDI और DI इंजन क्या है Full Form, Benefits, Tractor | Crdi Engine Vs Di Engine Hindi Working

1140

Crdi Engine Vs Di Engine Hindi Tractor Working Full Form Benefits, System injector type specifications, power mahindra india meaning Difference is good सीआरडीआई इंजन डीआई इंजन महिंद्रा

किसान साथियों हम जब भी ट्रैक्टर खरीदी करते हैं तो हम सीआरडीआई और डीआई इंजन का नाम जरूर सुनते हैं ।

और कई बार हम कंफ्यूज हो जाते हैं कि हमें Crdi engine ट्रैक्टर लेना चाहिए या Di engine वाला tractor लेना चाहिए।  

आजकल ज्यादातर कंपनी सीआरडीआई ट्रैक्टर ला रही है और दोनों तरह के इंजन में थोड़ी बहुत अलग खासियत होती है ।

जिसके कारण हमको ट्रैक्टर खरीदते समय इन इंजनों का ध्यान रखना पड़ता है क्योंकि tractor एक बड़ा इन्वेस्टमेंट हो जाता है जो एक बार खरीदने के बाद हमको लंबे समय तक उपयोग करना होता है ।

तो हम अपने काम के हिसाब से इंजिन का चुनाव करते हैं तो अच्छा होता है और आगे चलकर हमें कोई परेशानी नहीं आती तो चलिए अब डिटेल में जानने का प्रयास करते हैं कि हमारे लिए कौन से इंजन वाला ट्रैक्टर अच्छा है।

ट्रैक्टर में इंजन का काम (tractor engine working)

लगातार ट्रैक्टर में पड़ रहे भार को नियंत्रित करने के लिए या फिर क्षमता बनाए रखने के लिए ट्रैक्टर में इंजन लगाया जाता है।

जो ट्रैक्टर के पावर को मेंटेन करके रखता है इसी कारण आजकल अलग-अलग प्रकार की इंजन आने लगी है ।

जिसमें अलग-अलग फीचर भी देखने को मिलता है कई बार इंजन का चुनाव मेंटेनेंस खर्चा को देखकर भी किया जाता है तो इस तरह से ट्रैक्टर में इंजन का काम होता है।

सीआरडीआई इंजन ट्रैक्टर (Crdi engine tractor)

Full FormCommon Rail Diesel Fuel Injection System

सीआरडीआई इंजन वह इंजन होता है जिसके अंदर रिल लगी होती है जहां प्रेशर मेंटेन किया जाता है जो हर रिल में Fuel inject करता है इस तरह के इंजन को Crdi engine कहते हैं।

आज के समय में ज्यादातर ट्रैक्टर कंपनी सीआरडीआई इंजन ला रही है इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि Crdi engine में Di engine के मुकाबले 25 फ़ीसदी ज्यादा पावर होती है।

विशेषज्ञों का कहना है कि सीआरडीआई इंजन से ट्रैक्टर के परफॉर्मेंस में वृद्धि होती है।

ट्रैक्टर में सीआरडीआई इंजिन के लगे होने से ट्रैक्टर में वाइब्रेशन की समस्या कम होती है उसी के साथ फ्यूल का खर्चा कम आता है जिससे प्रदूषण कम होता है।

नुकसान (Crdi engine ke nuksan Difference)

सीआरडीआई इंजन वाले ट्रैक्टर डीआई इंजन ट्रैक्टर के मुकाबले महंगी होती है क्योंकि इसमें फीचर ज्यादा होता है।

Crdi engine में feature ज्यादा होने के कारण इसको समय-समय पर देखरेख करना बहुत जरूरी हो जाता है और हमेशा मेंटेन करके रखना जरूरी हो जाता है और अगर हम मेंटेन सही तरह से करते हैं तो ट्रैक्टर की परफॉर्मेंस लगातार बनी रहती है।

सीआरडीआई इंजन में डीआई इंजिन के मुकाबले मेंटेनेंस खर्चा ज्यादा आता है।

इसका और सबसे बड़ा नुकसान यह है कि अगर आप किसी ड्राइवर के भरोसे ट्रैक्टर को छोड़ देते हैं तो आपको Crdi engine लेना नुकसान हो सकता है क्योंकि इसमें मेंटेनेंस में बहुत ध्यान देना पड़ता है।

डीआई इंजिन ट्रैक्टर (Tractor Di engine)

Full FormDirect Injection

ट्रैक्टर के डीआई इंजन में कोई कॉमन रिल नहीं लगी होती इसमें डायरेक्ट फ्यूल सिस्टम में जाता है तो इस तरह के इंजन को डीआई इंजन कहा जाता है।

पहले के सभी ट्रैक्टर में डीआई इंजन दिया जाता था क्योंकि इस तरह के इंजन में खर्च कम आता है और हर समय एकदम मेंटेनेंस करना भी नहीं पड़ता।

डीआई इंजन के ट्रैक्टर सीआरडीआई के मुकाबले थोड़ी सस्ते होते हैं और इसे ड्राइवर के हाथों छोड़ा जा सकता है क्योंकि हर समय मेंटेनेंस करना नहीं पड़ता।

कौन सा ट्रैक्टर खरीदें (Best Tractor Buying mahindra, john deere, farm trac)

अब हमें ट्रैक्टर में Crdi engine vs di engine के बारे में तो थोड़ी बहुत जानकारी हो गई है ।

तो अब हमारे मन में यह सवाल उठ रहा है कि आखिरकार हम कौन सा ट्रैक्टर खरीदे, तो आप अपने काम के हिसाब से देख ले कि आपको कौन सी इंजन की जरूरत पड़ेगी।

अगर आप खुद ट्रैक्टर चलाते हैं तब तो आप सीआरडीआई इंजन ही खरीदें या फिर छोटे-मोटे काम के लिए tractor की जरूरत होती है तो Crdi engine ही खरीदें।

और अगर आप अपने ट्रैक्टर को ज्यादातर समय किराए पर चलाते हैं या ड्राइवर के भरोसे चलाते हैं तो आपको Di engine खरीदना चाहिए। 

क्योंकि इसमें मेंटेनेंस खर्चा कम आता है और उसको ड्राइवर आराम से कर सकता है और अगर Crdi engine ले ले और मेंटेनेंस सही से नहीं करें तो tractor का performance भी आपको अच्छा नहीं मिलेगा तो यह सामान्य सी बात है ज्यादा कुछ technical नहीं है आप इसको आराम से ध्यान में रखकर ट्रैक्टर खरीद सकते हैं।

आगे चलकर सीआरडीआई इंजन ट्रैक्टर (Crdi engine vs di engine)

आज के समय में लगभग सभी ट्रैक्टर कंपनी अपनेtractor में सीआरडीआई इंजन लेकर आ रही है।

भारत में सबसे पहले सीआरडीआई इंजन महिंद्रा ट्रैक्टर ने लाई थी और आज के समय में जॉन डियर, new Holland, farm trac और लगभग सभी तरह की कंपनियां अपने ज्यादा एचपी के ट्रैक्टर में Crdi engine लेकर आ रही है।

और पढ़ें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here