Assert Herbicide Uses Hindi, Dosage, Technical Name, Composition, Price

784

assert herbicide uses hindi Dosage Technical Name Composition Price, penoxsulam 2.67 penoxsulam 2.67 label

किसान साथियों हम जब भी फसल लगाते हैं तो फसल के साथ अनेकों प्रकार के खरपतवार भी फसलों के साथ उग जाते हैं।

आजकल फसलों के साथ उगने वाले नए-नए घास उत्पन्न हो रहे हैं जैसे चौड़ा पत्ती, सकरी पत्ती, मोथा घास, सावा इसके अलावा ना जाने और कितने तरह के घास फसलों के साथ उगने लगे हैं ।

जिसका निपटारा करना बहुत ही जरूरी होता है नहीं तो यह फसल को पूरी तरह से चौपट कर देती है।

हम फसल में जब भी कोई टॉनिक या कुछ भी दवाई डालते हैं तो वह अच्छे से काम नहीं करती और पानी डालने पर फसलों के साथ घास भी अपनी जड़े जमाने लगती है जिसके कारण खरपतवारों को कंट्रोल करना बहुत ही जरूरी है।

धान की फसल के लिए धान को नुकसान पहुंचाए बिना सबसे अच्छा kharpatwar nashak Dow Company द्वारा निर्मित assert herbicide आती है जो धान की फसल में काफी असरदार खरपतवार नाशक में से एक है और हम आज इसी के बारे में पूरी डिटेल में चर्चा करने वाले और जानने वाले हैं।

असर्ट क्या है (assert kya hai)

असर्ट एक खरपतवार नाशक है जो Dow Company corteva द्वारा बनाई जाती है

assert technical nampenoxsulam 2.67 OD

जिसका उपयोग मुख्यतः dhan की फसलों में किया जाता है या dhan के साथ उगने वाले खरपतवारों को धान को नुकसान पहुंचाए बिना नियंत्रण करता है।

dhan ki fasal में उगने वाले हर तरह की kharpatwar जैसे चौड़ी पत्ती, सकरी पत्ती, सावा और सभी तरह के घास यह नियंत्रण करता है।

असर्ट हर्बिसाइड का काम (assert herbicide ka work)

assert herbicide OD फॉर्मूलेशन में आता है इसका मतलब है कि यह पानी में दूसरे खरपतवारों की अपेक्षा अच्छा से खुलता है जिससे रिजल्ट भी सही मिलता है।

असर्ट का काम dhan ki fasal में उगने वाले घास को नियंत्रण करना है और धान की फसलों में सबसे ज्यादा परेशानी चौड़ी पत्ती वाले खरपतवार, मोथा घास, सकरी पत्ती, नरकुल घास, छतरी वाला घास, लाल सावा, सफेद सावा, बदौर, आलू बन, को assert herbicide डालकर हम कंट्रोल कर सकते हैं।

लेकिन जब घास बड़ी हो जाती है तो असर्ट काम नहीं करता यह घास के छोटे रूप में मतलब यू कहे तो जब 6 से 7 पत्ते का होता है तब तो आराम से कंट्रोल कर लेता है और अगर घास बड़ी हो जाती है तो यह कंट्रोल नहीं कर पाती।

असर्ट हर्बिसाइड का उपयोग (assert herbicide uses in hindi)

assert का अच्छा रिजल्ट देखने के लिए हमको धान की फसल में जब kharpatwar  उगने लगता है उसी समय छिड़काव कर देना चाहिए ।

क्योंकि अगर फसल में जैसे ही खरपतवार लगता है तो उसको आसानी से कंट्रोल किया जा सकता है लेकिन जैसे-जैसे dhan ki fasal बढ़ती जाती है उसी तरह खरपतवार भी बढ़ने लगते हैं ।

और जो भी दवाई और खाद हम फसल को देते हैं वह दवाई खरपतवारों को भी मिलने लगती है जिसके कारण खरपतवार और बढ़ने लगता है जिसको कंट्रोल कर पाना मुश्किल हो जाता है ।

इसीलिए जब घास या kharpatwar 6 से 7 पत्ते तक दिखने लगे तो हमको तुरंत असर्ट का स्प्रे कर देना चाहिए नहीं तो हमें मजदूर लगाकर खरपतवार को हाथ से निराई गुड़ाई करवानी पड़ेगी जिससे हमारा खर्चा बढ़ेगा।

धान में असर्ट का उपयोग 400 ml प्रति एकड़ के हिसाब से करनी चाहिए जिसकी पैकिंग बाजार में 400ml और 1 लीटर की आती है जिसमें 1 लीटर assert herbicide को हम 2.5 एकड़ में छिड़काव कर सकते हैं।

नुकसान (assert herbicide ke nuksan)

धान की खेती में असर्ट हर्बिसाइड का उतना ज्यादा नुकसान नहीं होता फिर भी assert ज्यादा पावर वाली दवाई होती है।

जिसके कारण कई बार फसल पीला पड़ने लगता है या बैठने लगता है जिससे फसल की ग्रोथ रुकने लगती है लेकिन हमे डरने की जरूरत नहीं है क्योकि कुछ दिन बाद यह सही होने लगती है।

तो किसान साथियों अगर आप धान की फसल में खरपतवार से परेशान है और आप मजदूर को लेकर हमेशा परेशान रहते हैं तो आपको धान की फसल में assert herbicide जरूर डालनी चाहिए क्योंकि इसके छिड़काव से फसलों में होने वाले सभी तरह की घास, खरपतवार का नियंत्रण एक साथ हो जाता है जिससे हमारा खर्चा भी कम होता है ।

Other Post:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here